AVS

Astrologer,Numerologer,Vastushastri

Bhartiya jyotish vadic shastra

Astrology

Bhartiya jyotish vadic shastra

नमस्कार दोस्तों मैं Astrovastusarvesh आज आपको भारतीय ज्योतिष विद्या के गूढ़ रहस्यों के बारे में बताने जा रहा हूं, इसमें भारतीय ज्योतिष की कई शाखाएं हैं जिसमें हम आज ज्योतिष की बात करेंगे, हमारे ऋषि-मुनियों ने ज्योतिष को वेदों का नेत्र कहा है, और आयुर्वेद को शरीर के किसी भी रोगों को दूर करने की क्षमता प्रदान की है, वहीं आध्यात्म को शरीर और मन को एकाकार करने का मार्ग बताया है।

 दोस्तों ज्योतिषीय परामर्श

के माध्यम से जाना जा सकता है- कि, क्या कार्य करना उचित है या अनुचित है, कौन सा कार्य करने में लाभ होगा या हानि  होगी, फलित ज्योतिष के आवश्यक सिद्धांतों व फल निर्देश की मूलभूत नीतियों के आधार पर जातक की शिक्षा, व्यापार,, नौकरी,, विवाह, संतान, मकान, वाहन, एवं सबसे महत्वपूर्ण रोगों के विषयों को हम भलीभांति जान सकते हैं। इसके अलावा जीवन में घटने वाली कुछ शुभ व अशुभ घटनाओं को भी जाना जा सकता है

Astrology


 मां सरस्वती

की विशेष अनुकंपा होने के कारण मैं लगभग 6 वर्षों से ज्योतिषी के क्षेत्र में रिसर्च और डेवलपमेंट का कार्य अपनी टीम के साथ कर रहा हूं मन में बहुत इच्छा थी कि मैं अपनी बातों को लोगों तक पहुंचाऊ, सो आज मैं आप सबके सम्मुख उपस्थित हूं, दोस्तों इस ब्लॉग में मैं नवग्रह के परिचय के साथ उनके राशियों गुणधर्म नक्षत्र कुंडली के ग्रहों की युति दृष्टि राशि परिवर्तन से बनने वाले योग एवं अन्य विविध विषय जो आपके लिए एक Question ? बने हुए हैं को स्पष्ट रूप से आपके सम्मुख रखने का प्रयास करूंगा। यदि इसमें भी आपको समझने में किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत हो तो आप अपना कांटेक्ट नंबर या ईमेल ऐड्रेस प्रश्न के साथ हमें दें या कमेंट बॉक्स में अपना कमेंट लिखें  जिससे मैं आप लोगों के प्रश्न के उत्तर के साथ आप से संपर्क कर सकूं और आपके सवालों का या कमैंट्स का भली-भांति जवाब दे सकूं ।

दोस्तों में एक वास्तु शास्त्री  भी हूं यदि इससे भी रिलेटेड कोई प्रश्न आपका हो तो हमें अवश्य बताएं

  1.                                                                                                                        धन्यवाद दोस्तों
  2. astrovstusarvesh
  3. Contact us
SHARE

Sarvesh Astrologer Vastushastri

Astro Vastu Sarvesh (AVS) का उद्देश्य लगो की जनम कुंडली से निकलने वाली ऊर्जा और उस व्यक्ति के मकान से निकलने वाली ऊर्जा के बीच तालमेल बैठाना ही है, ताकि वो व्यक्ति मकान के बजाय "सुख और समृद्ध घर" मे रहे। इंसान के सोच से कर्म का निर्माण होता है, और कर्म से ही भाग्य का निर्माण होता है, AVS आपके कर्म को जागृत करते है और आप अपने भाग्य को।

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment