AVS

Astrologer,Numerologer,Vastushastri

insomnia symptoms hindi | trouble sleeping | sleepless | anidra k karan aur upay


insomnia symptoms hindi | trouble sleeping | sleepless | anidra k karan aur upay

         
यदि पैसे वाला व्यक्ति चाहे तो किसी को लाख दो लाख 1000000 रुपए देकर के एक अच्छी नींद नहीं खरीद सकता, यदि पहलवान चाहे तो किसी की अच्छी नींद छीन नहीं सकता, यदि चोर चाहे तो किसी की नींद चुरा नहीं सकता, यदि डाकू आ जाए तो किसी की नींद को हो लूट नहीं सकता,  मित्रों ऐसी ताकत है नींद में जो इन सबसे ऊपर है। ऐसे में कुछ लोग 
insomnia symptoms hindi | trouble sleeping | sleepless | anidra k karan से ग्रसित हो जाते हैं आज हम इसी विषय में चर्चा करेंगे-

insomnia symptoms hindi | trouble sleeping | sleepless | anidra k karan aur upay
insomnia symptoms hindi | trouble sleeping | sleepless | anidra k karan aur upay

           वास्तव में वस्तु के सिद्धांतो के अनुसार कुछ ऐसी दिशाएं हैं, जो हमें हमारे शरीर को फिर से ऊर्जावान करने में मदद करते हैं। यदि उन दिशाओं में किसी भी प्रकार का दोष हो या  उसके शरीर में पंचतत्व में कोई एक तत्व बिगड़ा हुआ हो तो व्यक्ति ऐसी समस्याओं से ग्रसित हो सकता है। कुछ सरल ज्योतिषीय उपाय और वास्तु के उपाय करने मात्र से वह व्यक्ति चैन की नींद ले सकेगा और अपने शरीर को फिर से ऊर्जावान बनाकर के अपनी कुशल व खुशहाल जिंदगी जीने का आनंद ले सकता है। 

insomnia symptoms hindi


          यह बीमारी भी (mental disorder)मेंटल डिसऑर्डर और नेगेटिव थिंकिंग की वजह से उत्पन्न होती है इसका एक  बढ़ा रीजन  over thinking भी है। यदि व्यक्ति (over thoughts) ओवर थॉट्स में रहता है तो भी इस बीमारी से ग्रसित हो जाता है, एंजायटी और डिप्रेशन की तरह तो नहीं किंतु समस्या थॉट्स से ही रिलेटेड होती है। ऐसी स्थिति में किसी कार्य का पूरा ना होने पर व्यक्ति उस कार्य के बारे में लगातार विचार करता रहे, अधिक मोबाइल, टीवी, कंप्यूटर देखने से भी यह समस्या से ग्रसित हो जाता है
        ऐसी स्थिति में व्यक्ति को(sleepless ) आराम पूरी तरीके से न मिल पाना उसे दूसरी बीमारियों को पैदा करने की वजह बन जाता है और इनसोम्निया  के गिरफ्त में व्यक्ति कब आ जाता है उसे पता ही नहीं चलता है। कभी कदार किसी रात नींद ना आना यह आम बात है, किंतु कई दिनो तक ये स्थिति बनी रहे तो insomnia की समस्या सो जाती है। 

trouble sleeping


        यदि आज की बात की जाए तो पूरी दुनिया में ऐसे लोगों की तादाद आज बढ़ती जा रही है। एक सर्वे के मुताबिक यह पाया गया कि पूरी दुनिया में लोग पहले के मुकाबले अब कम नींद ले रहे हैं। एक रिसर्च में यह पाया गया कि स्पेन के लोग सबसे देर में सोने जाते हैं। ये 11:45 पर सोने जाते हैं, और ऑस्ट्रेलिया के लोग 10:45 पर सोने जाते हैं। यह उनके यहां का एक एवरेज टाइम निकाला गया है। इसी तरह से नीदरलैंड के लोग ज्यादा नींद लेते हैं, उनकी औसत नींद 8 घंटे तक की होती है। सिंगापुर में 7 घंटे, सऊदी अरब में सबसे ज्यादा नींद लेते हैं, और वहीं अमेरिका में सबसे सबसे कम नींद रिकॉर्ड की गई। अब बात करते हैं भारत की, भारत में लगभग 93 परसेंट लोग अपनी पूरी नींद नहीं लेते हैं, और नींद की समस्या से जूझते हैं जिससे उनकी सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ता है और दफ्तर में या व्यापारिक स्थल पर उनका काम डिस्टर्ब होता है या प्रभावित होता है।

anidra k karan aur upay

       
  वैज्ञानिकों ने इस बात की पुष्टि की है कि अधिक मोबाइल, टीवी, कंप्यूटर, अलग-अलग शिफ्ट में कार्य करना दूसरों से आगे निकलने की होड़ में हफ्तों के सातों दिन काम करना, अपने आप को आराम न देना, यह सब एक मुख्य कारण है। 1950 की बात करें तो यहां पर लोग 8 घंटे की नींद कम से कम लिया करते थे। किंतु यदि आज की बात की जाए तो यह नींद का औसत 6 घंटे के आस पास पहुंच गया है।

sleepless

        
             अब बात करते हैं कि कम सोने या ज्यादा सोने से व्यक्ति की सेहत पर अच्छा प्रभाव या बुरा प्रभाव कैसे पड़ता है। तो दोस्तों इस को समझने के लिए आपको मेरे साथ थोड़ा गहराई में उतरना पड़ेगा। हमारा दिमाग चौबीसों घंटे हफ्ते के सातों दिन सतर्क रहता है, कार्य करता है, ठीक उसी प्रकार से जैसे जन्म से लेकर के मृत्यु तक बिना रुके बिना थके बिना सोचे हमारा दिल कार्य करता है। इसी प्रकार से जब हम गहरी नींद में जाते हैं तो हमारा दिमाग, हमारे उस दिमाग की, जो जागृत अवस्था में चीजों को ऑब्जर्व करता है, सोचता है, समझता है, उसकी साफ सफाई का कार्य करता है ,नींद के दौरान ही हमारा अनकॉन्शियस माइंड कॉन्शियस में आता है, और कॉन्शियस माइंड की अच्छी बुरी बातों की तुलना करता है, और उन बातों को अपने  मेमोरी  में स्टोर कर लेता है  जो उसे लंबे समय तक रखनी होती है। यानी कि हमारे कॉन्शियस माइंड ने जिस चीज को बार बार देखा सुना समझा उन चीजों को लंबे समय तक याद रखने के लिए अपने मेमोरी में स्टोर करता है, और बाकी चीजों को निकाल फेकता है। जिन्हें हम वेस्ट प्रोडक्ट भी कह सकते हैं।
        
               हमारी आंखों के पीछे  एक चावल के दाने के बराबर कोशिकाओं का एक समूह होता है, जो बाहर की रोशनी देख कर के यह अंदाजा लगाते हैं कि सोने का वक्त हुआ है या नहीं। अर्थात सोने लायक अंधेरा है या अभी भी उजाला है। हमारी नींद दो हिस्सों में होती है जिसमें पहला हिस्सा होता है r.e.m. का जिसमें हृदय की गति धीमी हो जाती है शरीर की मांसपेशियां शिथिल हो जाती हैं शरीर आराम की अवस्था में जाने लगता है। दूसरी अवस्था के दौरान इंसान सपने देखता है। और उसकी आंखें अंदर ही अंदर हिलने लगती हैं इसे नींद की गहरी अवस्था माना जाता है, और फिर इंसान सपनों में ही उन पलों को महसूस करता है जो सपने में घटना घट रही होती है जिससे उसकी दिल की धड़कन कभी तेज और कभी धीमी होती है,  फिर हमारा शरीर एक हरकत में आता है और हम किसी एक करवट को सोते हैं। ऐसे में व्यक्ति फिर वही पहले वाली अवस्था में आ जाता है जिसमें शरीर शिथिल होता है हृदय की गति धीमी होती है और मांसपेशियां ढीली होने लगती हैं और व्यक्ति फिर से गहरी नींद में चला जाता है। ऐसी अवस्था व्यक्ति के 8 घंटे के  नींद के दौरान तीन से चार बार होती है और व्यक्ति का पूरा शरीर पूरी तरीके से हील हो जाता है। व्यक्ति ने दिनभर कार्य करके जो अपनी ऊर्जा खर्च की हुई होती है वह इस हीलिंग से पूरी तरह से उसका शरीर फिर से प्राप्त कर लेता है। 
        
           दोस्तों उम्मीद करता हूं की trouble sleeping | sleepless | anidra k karan या कम नींद आना या कम सोना इन बातों को अब आप गंभीरता से लेंगे और अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए अपनी नींद को पूरी तरीके से लेंगे यदि आप को भी नींद से जुड़ी कोई समस्या हो तो आप ज्योतिष और वास्तु  से जुड़ी समस्याओं के लिए हमसे संपर्क कर सकते हैं और हम अपने ज्ञान अनुसार आपकी जो भी मदद हो सकेगी वह हम अवश्य करने की कोशिश करेंगे। उम्मीद करता हूं कि आप को भलीभांति समझाने में मैं सफल रहा हूं आगे भी ऐसी अनोखी बातों को आप के सामने लाने  का प्रयास मेरा जारी रहेगा इसी के साथ नमस्कार दोस्तों।   Contact   
                                                              धन्यवाद
                                                  दोस्तों मैं आपका  दोस्त
                                                  एस्ट्रोलॉजर वास्तु शास्त्री
                                                             सर्वेश
मेरे अन्य पोस्ट (post) 

upay

Depression symptoms

SHARE

Sarvesh Astrologer Vastushastri

Astro Vastu Sarvesh (AVS) का उद्देश्य लगो की जनम कुंडली से निकलने वाली ऊर्जा और उस व्यक्ति के मकान से निकलने वाली ऊर्जा के बीच तालमेल बैठाना ही है, ताकि वो व्यक्ति मकान के बजाय "सुख और समृद्ध घर" मे रहे। इंसान के सोच से कर्म का निर्माण होता है, और कर्म से ही भाग्य का निर्माण होता है, AVS आपके कर्म को जागृत करते है और आप अपने भाग्य को।

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

1 comments:

  1. Living with insomnia is hardly living at all. Those who suffer from the condition over the long haul will find everything they do can be impacted. There are ways to say goodnight insomnia, if people are willing to hunt for their own cure. natural remedy for insomnia

    ReplyDelete