AVS

Astrologer,Numerologer,Vastushastri

Remedies of north east kitchen Vastu

Remedies of north east kitchen Vastu 


1 गैस के चूल्हे को Kitchen के south east corner  में रखें
Remedies of north east kitchen Vastu-high blood pressure
kitchen remedies for high blood pressure

2 अपने Kitchen के north east  की जगह को खाली रखें साफ सुथरा रखें।
3 यदि आपके Kitchen का नॉर्थ ईस्ट बढ़ा हुआ है तो, यह बहुत अच्छी बात है। अन्यथा संभव हो तो इसे और  बढ़ा ले  इससे काफी हद तक यहां की अग्नि बैलेंस हो जाएगी।
अपने गुरु की या अन्नपूर्णा भगवान की फोटो Kitchen  के  north east  मे लगा ले इससे उनके आशीर्वाद से बहुत लाभ होगा। 
5 यदि संभव हो तो Kitchen की एनर्जी को जरूर चेक करें, यदि वह नेगेटिव हो तो वहां pyramid   रख कर वहां की एनर्जी को बढ़ाया जा सकता है।
अपने घर के south east corner  पर एक जलती हुई मोमबत्ती का पिक्चर लगाएं, क्योंकि किचन की actul place south east corner ही है इसलिए वहां अग्नि को होना  चाहिए किंतु यदि साउथ ईस्ट बढ़ा हुआ है, यह वहां की एनर्जी अधिक है, या वहां आपने लाल रंग का कलर करा रखा है तो  पिक्चर ना लगाएं।
7  north east Kitchen मे 3 बाउल  कॉसे  का (bronze) उल्टा करके  लटकाए, किंतु यह ध्यान दें की गैस चूल्हे के ऊपर न लटके इससे किचन की अग्नि से, नुकसान  काफी हद तक कम  हो जाएगा और आपकी समस्या भी कम हो जाएगी।
Remedies of north east kitchen Vastu-manage
Remedies of north east kitchen Vastu

Kitchen vastu tips and colour in hindi

दोस्तों उपाय तो अनेकों हैं किंतु बिना एनर्जी चेक किए और बिना डिग्री निकाले इन उपायों को करने का कितना लाभ होगा यह आप देखेंशास्त्र कहता है की नॉर्थ ईस्ट में किचन नहीं होनी चाहिए यदि आप दूसरी जगह शिफ्ट नहीं कर सकते तो  छोटे-छोटे उपाय के माध्यम से अपनी समस्याओं को कम जरूर कर  लीजिए।
    इन उपायों को करिए और  इनका लाभ लीजिए,  यदि आप कुछ और भी जानना चाहे Kitchen से रिलेटेड तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं या मुझे कांटेक्ट कर सकते हैं यदि आज की जानकारी थोड़ी भी अच्छी लगी हो इसे शेयर करिए लाइक करें धन्यवाद 


What is Vastu Shastra And Significance In Hindi

  
SHARE

Sarvesh Astrologer Vastushastri

Astro Vastu Sarvesh (AVS) का उद्देश्य लगो की जनम कुंडली से निकलने वाली ऊर्जा और उस व्यक्ति के मकान से निकलने वाली ऊर्जा के बीच तालमेल बैठाना ही है, ताकि वो व्यक्ति मकान के बजाय "सुख और समृद्ध घर" मे रहे। इंसान के सोच से कर्म का निर्माण होता है, और कर्म से ही भाग्य का निर्माण होता है, AVS आपके कर्म को जागृत करते है और आप अपने भाग्य को।

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

6 comments: