AVS

Astrologer,Numerologer,Vastushastri

save water-importance of water

save water-importance of water

क्या हम पानी के बिना प्रकृति की कल्पना कर सकते हैं, प्रकृति यानी हमारा पर्यावरण, हमारा वातावरण, हमारे पेड़ पौधे, जो हमारे लिए अत्यंत आवश्यक है, उनके लिए पानी अत्यंत आवश्यक है।
इसलिए पानी बचाओ। 

 
श्री नरेंद्र मोदी को नमन -
नमस्कार दोस्तों हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा चलाए जा रहे अभियान पानी बचाओ जीवन बचाओ में मैं भी अपना एक छोटा सा योगदान save water पर दे रहा हूं जिसमें पानी को सिर्फ जीवन जीने के लिए ही नहीं बल्कि अन्य कई कारणों से भी सुरक्षित करना अनिवार्य है।

save water-importance of water।water pollution
save water-importance of water

 आज इस पेज पर हम बात करेंगे(save water-importance of water) पानी को बचाने के कुछ छोटे-छोटे तरीकों की, और एस्ट्रोलॉजी और वास्तु में पानी के महत्व की importance of water, and water pollution, यदि पानी शुद्ध  ना होकर के प्रदूषित हो जाए तो भी वह पानी इस्तेमाल में लाया जा सकता है। उन तौर-तरीकों की बात करेंगे और अंत में world water day के बारे में। 
तो चलिए शुरू करते हैं-

Astrology effect


दोस्तों एस्ट्रोलॉजी  का  आधार पांच तत्व ही है, वह है अग्नि, पृथ्वी, वायु, जल, और आकाश जिनमें जल प्रमुख रूप से शामिल है पूरे विश्व में इन्हीं तत्वों के आधार पर व्यक्ति का व्यक्तित्व बनता है उसका नेचर बनता है व्यवहार करने की सीमा मन शरीर एवं शरीर के जो अंग वह भी इन्हीं तत्वों के आधार पर ही विकसित होते हैं, यदि इन तत्वों में मान लीजिए किसी का जल तत्व है तो उस व्यक्ति का व्यवहार और उस व्यक्ति का आचरण दोनों ही जल् से को-रिलेट(Co-relate) करेगा ऐसे में उस व्यक्ति के लिए जल की अहमियत बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। 

Jyotish shastra Jyotish vigyan indian astrology

अब यह होता कैसे हैं इसे भी थोड़ा समझ ले, अब यदि किसी का लग्न में नंबर पड़ा है या 8  या 12  नंबर पड़ा है तो उस व्यक्ति का लग जल तत्व का हो जाएगा। ऐसे में उसका नेचर उसका व्यक्तित्व जल की तरह बिहेव करेगा और उस व्यक्ति की सोच भी जल की तरह परिवर्तनशील रहेगी उसके विचार भी कभी अधिक कभी कम होते रहेंगे जिस प्रकार से जल का कार्य है निरंतर बहते रहना उसी प्रकार से वह व्यक्ति भी अपने आप को कहीं ना कहीं इंवॉल्व करेगा और निरंतर कुछ न कुछ करेगा किंतु एक कार्य को बहुत अधिक समय तक कर पाने में ऐसे लोग असमर्थ होते हैं। ऐसे लोगों को कुछ समय के बाद कुछ ठहराव की जरूरत होती है, उसके बाद फिर वह अपने कार्य में लग जाते हैं। ऐसे लोगों को पानी की आवश्यकता भी अधिक होती है और जल की बर्बादी से ऐसे लोगों में सबसे पहले इसका प्रभाव देखने को मिलता है।

Vastu effect


अब बात करते हैं वास्तु की दोस्तों हमारा ब्रह्मांड हमारा, हमारा शरीर सभी कुछ पंचतत्व पर ही निर्भर है हमारी पृथ्वी में उत्पन्न हो रहे प्रत्येक जीव वनस्पति सभी कुछ पंचतत्व पर ही निर्भर करती है इसलिए हमारे भवन यह भी पंचतत्व पर ही निर्भर करते हैं जैसा कि ऊपर बताया गया है, अग्नि पृथ्वी वायु जल और आकार इन्हीं के बैलेंस होने पर हमारे भवन में सभी गुणों का विद्मामान होना स्वाभाविक होता है। यदि कोई भी तत्व अस्थिर हो जाए तो भवन में रहने वाले व्यक्ति सबसे पहले अस्थिरता की तरफ आ जाते हैं, इसलिए एक वास्तुशास्त्री इन तत्वों को बैलेंस करके  भवन में रह रहे व्यक्तियों को प्रगति के पथ पर अग्रसर करता है।
save water-importance of water
vastu save water-importance of water

Bedroom vastu tips in hindi 9 point


अब यदि वातावरण से  जल की मात्रा घट जाए तो इसका प्रभाव ठीक वैसा ही आएगा जैसे एक भवन में जल का  अस्थिर हो  जाने से उत्पन्न परिस्थितियों से समस्याएं देखने को मिलती हैं, उसी प्रकार से यदि हमारी पृथ्वी से जल की मात्रा घट जाए या बढ़ जाए दोनों ही स्थितियों में हमें समस्याओं का सामना करना पड़ता है यहां एक बात कहना चाहूंगा जल की मात्रा बढ़ने से मतलब है कि किसी एक क्षेत्र में अधिक वर्षा होना और घटने से मतलब है कहीं पर वर्षा का ना होना या बहुत कम मात्रा में होना।
 अब आप के मन में यह प्रश्न आ रहा होगा की जल के लिए तो विशालकाय समुद्र मौजूद है किंतु फिर भी इतना सेव वाटर सेव वाटर क्यों।
 इसका सीधा सा जवाब यही है कि यदि हम पंच तत्वों को भली प्रकार से समझ ले तो यह प्रश्न का जवाब मिल जाएगा इसके लिए हमें पंचतत्व की उत्पत्ति को समझना पड़ेगा वास्तव में एक तत्व दूसरे तत्वों पर निर्भर रहता है।  जैसे यदि आकाश डिस्टर्ब हो तो वर्षा आकाश से ही होती है इसलिए जल की निर्भरता आकाश पर हैं, यदि जल ना होने से ऐसी स्थिति में वनस्पतियों का उग पाना या अस्तित्व में आना मुश्किल हो जाएगा, इसलिए वनस्पतियों को बढ़ने और पनपने के लिए वर्षा के जल जरूरी है। यदि पेड़ पौधे कम हो या ना हो तो अग्नि को ईंधन वही वनस्पति से मिलते हैं ऐसे में अग्नि अपने पूर्ण रूप में प्रज्वलित नहीं हो पाएगी अत: अग्नि कमजोर हो जाएगी। अग्नि के द्वारा ही पृथ्वी का निर्माण होता है और पृथ्वी के बनने पर ही आकाश अस्तित्व में आता है। इसी तरह से यह  पंचतत्व 5 elements कार्य करते हैं और इनके कार्य करने से पृथ्वी पर मौजूद सभी जीव जंतु वनस्पति, पक्षी, इन सभी का अस्तित्व बरकरार है। 

Vastu for Kitchen-Kitchen vaastu

एक और उदाहरण से समझाने का प्रयत्न करता हूं। वेदों में कहां है,  पर्जन्य जल वर्षा करने वाले देव हैं और सब लोको में जल बरसाते हैं पर्जन्य से ही सब लोक स्थित है क्योंकि पर्जन्य जल बरसाने वाले बादलों को प्रकट करते हैं। ऋग्वेद का पंचम, छठा और सातवां अध्याय कहता है, पर्जन्य वर्षा देव है इनके द्वारा ही औषधियां गर्भ धारण करती है जिससे वनस्पतियों की उत्पत्ति होती है यह जल द्वारा पृथ्वी का अभिषेक करते हैं जिससे पृथ्वी पर जल गिरता है और जल गिरने से वनस्पति को  बढ़ने  या फलने फूलने का अवसर प्राप्त होता है। Vastu
 में मौजूद 47 देवताओं में से ENE के देवता पर्जन्य है जिनके सकारात्मक प्रभाव से हमें उनके गुण प्राप्त होते हैं और नकारात्मक प्रभाव से इन सभी  अर्थात जल की कमी से औषधियां भली भांति कार्य नहीं करती हैं। 

Remedies of north east kitchen Vastu


विश्व में अधिक निर्माण एवं खुले पन और सुंदरता के लिए जंगलों का कांटा जाना एक बड़ी वजह है, जो वर्षा  को  डिस्टर्ब करता है। और सुचारू रूप से वर्षा ना हो पाने के कारण से पानी किसी एक स्थान पर अधिक और किसी स्थान पर सूखा होने से बैलेंस का गड़बड़ हो जाना इसकी मुख्य वजह है।
 इसलिए दोस्तों हमें पानी को बचाना चाहिए पानी को बचाने के कई छोटे-छोटे तरीके हैं जिन्हें विस्तारपूर्वक समझाने का प्रयत्न करूंगा।-

 

इस तरीकों से आप भी बचाएं पानी (Ways to save water):

  1. सुबह ब्रश करते समय नल के से सीधा पानी इस्तेमाल करने की बजाय एक लोटे या गिलास में पानी भर लें। उतने ही पानी से ब्रश गीला करें और ब्रश करने के बाद उसी पानी से कुल्हा भी कर लें। इस तरह पानी के बर्बादी कम होगी।
  2. जब आप अपने दाँत ब्रश करते हैं तो नल बंद कर दें - इससे प्रति मिनट 6 लीटर पानी बच सकता है|
  3. नहाने के लिए उतने ही पानी का इस्तेमाल करें जितना आपको आवश्यक लगे। अगर आपको लगता है कि आप एक बाली पानी से आराम से नहा लेंगे तो नहाते टाइम एक बाल्टी पानी भर लें। उसके बाद नलके का इस्तेमाल ना करें।
  4. बर्तन धोते समय नलके का पानी धीमी रफ़्तार में खोलें। इससे बर्तन अच्छी तरह साफ भी होंगे और पानी की बर्बादी कम होगी।
  5. किचन में सब्जियां धोने वाला पानी एक बड़े बर्तन में भरें। उससे सब्जियां साफ करें और इसके बाद इस पानी को गंदे बर्तनों पर फेंक दें। इससे उन बर्तनों की गंदगी पहले ही ढीली पड़ जाएगी और बर्तन धोते समय पानी का कम इस्तेमाल होगा।
  6. घर का फर्श, अन्य वस्तुएं या फिर गाड़ी धोते समय भी कम से कम पानी का इस्तेमाल करे। पाइप से पानी चलाकर छोड़ देने से पानी की काफी बर्बादी होती है। गाड़ी धोने के लिए 1 से 2 बाल्टी पानी काफी होता है।

क्या है वर्ल्ड वाटर डे? (What is World Water Day?)

लोगों के बीच पानी को बचाने, उसकी अहमियत को समझने के मकसद से ही दुनिया भर में विश्व पानी दिवस यानी World Water Day मनाया जाता है। यह हर साल 22 मार्च को आता है। पानी को कैसे साफ रखा जाए, गंदे पानी को कैसे साफ करें, पानी को बर्बाद होने से कैसे बचाये, किस तरह दिनभर मे पानी का उपयोग करें ताकि बर्बादी कम हो। ऐसे कई सारे मुद्दों को ध्यान में रखते हुए देशभर में वर्ल्ड वाटर डे मनाया जाता है। 

कैसे मनाते हैं वर्ल्ड वाटर डे (How World Water Day is celebrated)

यूनाइटेड नेशन यानी यूएन की ओर से दुनिया भर में 22 मार्च को वर्ल्ड वाटर डे के उपलक्ष्य में कई सारे प्रोग्राम किए जाते हैं। इस मुहीम से जुड़ा हर देश पानी को बचाने, पानी के सही उपयोग, पानी को कैसे साफ रखें, आदि चीजों को समझते हुए अपने देश में कार्यक्रम आयोजित कराता है। इसके अलावा पानी से जुड़े कई सर्वे भी किए जाते हैं ताकि जो देश या क्षेत्र पानी से वंचित हैं, वहां तक पानी को पहुंचाकर लोगों की तकलीफों का समाधान निकाला जा सके।

क्या हम पानी के बिना प्रकृति की कल्पना कर सकते हैं प्रकृति यानी हमारा पर्यावरण हमारा वातावरण प्रकृति यानी पर्यावरण यानी हमारे पेड़ पौधे जो हमारे लिए अत्यंत आवश्यक है पता उनके लिए पानी अत्यंत आवश्यक है

दोस्तों यह तो हुई "save water-importance of water"  पानी बचाने की कुछ तरकीबे,  उम्मीद करता हूं की आज से, बल्कि अभी से ही Save water पर आपने सोचना शुरू कर दिया होगा । और पानी की सुरक्षा की जिम्मेदारी अब हर नागरिक की है, हर देशवासी की है। एस्ट्रोलॉजी और वास्तु से जुड़ी हुई ( Water) जल की जो भी जरूरतें हैं उनमें से मैं कुछ ही बता पाया हूं। सारी जानकारी एक पेज पर देना मुमकिन नहीं, इसलिए मेरा उद्देश्य पानी की सुरक्षा है तो उम्मीद करता हूं कि मेरा उद्देश्य कुछ हद तक कामयाब हुआ होगा यदि आप में से कोई भी इस विषय पर कोई Suggestion या सुझाव देना चाहे तो कमेंट बॉक्स में, या Contact पर जाकर मुझे  अपने कीमती सुझाव दे सकते हैं                                                                                       
                                                                                        धन्यवाद
                                                                                Astro Vastu Sarvesh
                                                                               Astrologer Vastu shastri






SHARE

Sarvesh Astrologer Vastushastri

Astro Vastu Sarvesh (AVS) का उद्देश्य लगो की जनम कुंडली से निकलने वाली ऊर्जा और उस व्यक्ति के मकान से निकलने वाली ऊर्जा के बीच तालमेल बैठाना ही है, ताकि वो व्यक्ति मकान के बजाय "सुख और समृद्ध घर" मे रहे। इंसान के सोच से कर्म का निर्माण होता है, और कर्म से ही भाग्य का निर्माण होता है, AVS आपके कर्म को जागृत करते है और आप अपने भाग्य को।

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

5 comments:

  1. Paani bachaane से क्या humara bhagya bhi badal sakta h?

    ReplyDelete
  2. जी हाँ बिलकुल,वास्तु के अनुसार जल की दिशा हमे gain यानि के प्रप्ति दिलाति है, और ज्योतिश के अनुसार जल हमरा मन है ग्यान और ग्यान कि गहेराई है !

    ReplyDelete
  3. I admire this article for the well-researched content and excellent wording. I got so involved in this material that I couldn’t stop reading. I am impressed with your work and skill. Thank you so much. read more

    ReplyDelete
  4. Thanks for sharing nice information with us. i like your post and all you share with us is uptodate and quite informative, i would like to bookmark the page so i can come here again to read you, as you have done a wonderful job. warn winch reviews

    ReplyDelete
  5. Opportune cleaning of sewage compartment can support the tank well. https://congtyhutbephot.com/quan-tay-ho/

    ReplyDelete