AVS

Astrologer,Numerologer,Vastushastri

What is anxiety disorders|chinta ki samasya kya hai

 Overview

What is anxiety disorders


you know your birth chart?

चिंता(anxiety) आपके शरीर की तनाव के प्रति स्वाभाविक प्रतिक्रिया है। यह आने वाले समय के बारे में भय या आशंका की भावना है। स्कूल के पहले दिन, नौकरी के लिए इंटरव्यू देने या भाषण देने से अधिकांश लोगों को डर और घबराहट महसूस हो सकती है।


लेकिन अगर आपकी चिंता की भावना चरम पर है, छह महीने से अधिक समय तक रहती है, और आपके जीवन में हस्तक्षेप कर रही है, तो आपको चिंता विकार(Anxiety disorder) हो सकता है।


anxiety disorders? through your birth chart

चिंता विकार क्या हैं?

नई जगह जाने, नई नौकरी शुरू करने या परीक्षा देने के बारे में चिंतित(anxiety disorders) होना सामान्य है। इस प्रकार की चिंता anxiety अप्रिय है, लेकिन यह आपको अधिक मेहनत करने और बेहतर काम करने के लिए प्रेरित कर सकती है। साधारण चिंताanxiety एक ऐसी भावना है जो आती है और जाती है, लेकिन आपके दैनिक जीवन में हस्तक्षेप नहीं करती है।

एंग्जायटी डिसऑर्डर(anxiety disorders) की स्थिति में डर की भावना हर समय आपके साथ रह सकती है। यह तीव्र और कभी-कभी दुर्बल करने वाला होता है। कभी कभी समस्या इतनी आधिक बढ़ जाती है की सांस लेना या दिल की धड़कन इससे प्रभावित होने लगती है 


इस प्रकार की चिंता आपको उन चीजों को करने से रोक सकती है जो आपको पसंद हैं। चरम मामलों में, यह आपको लिफ्ट में प्रवेश करने, सड़क पार करने या यहां तक ​​कि अपना घर छोड़ने से भी रोक सकता है। यदि इसका इलाज ठीक समय पर ठीक से ना किया जाए और ऐसे ही  छोड़ दिया जाता है, तो चिंता और भी बदतर हो जाएगी।


चिंता विकार (anxiety disorders)भावनात्मक विकार का सबसे आम रूप है और यह किसी भी उम्र में किसी को भी प्रभावित कर सकता है। अमेरिकन साइकियाट्रिक एसोसिएशन के अनुसार, पुरुषों की तुलना में महिलाओं में चिंता विकार होने की संभावना अधिक होती है।

चिंता विकार कितने प्रकार के होते हैं? types of anxiety disorders?

चिंता कई अलग-अलग विकारों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसमें शामिल है:


1 पैनिक डिसऑर्डर(panic disorder): अप्रत्याशित समय पर बार-बार होने वाले पैनिक अटैक का अनुभव करना। पैनिक डिसऑर्डर से ग्रसित व्यक्ति अगले पैनिक अटैक के डर में जी सकता है।

2 फोबिया(phobia): किसी विशिष्ट वस्तु, स्थिति या गतिविधि का अत्यधिक भय

3 सामाजिक चिंता विकार(social anxiety disorder): सामाजिक स्थितियों में दूसरों के द्वारा न्याय किए जाने का अत्यधिक भय

4 जुनूनी-बाध्यकारी विकार(obsessive-compulsive disorder): आवर्ती तर्कहीन विचार जो आपको विशिष्ट, बार-बार व्यवहार करने के लिए प्रेरित करते हैं;

5 अलगाव चिंता विकार(separation anxiety disorder): घर या प्रियजनों से दूर होने का डर;

6 बीमारी चिंता विकार(illness anxiety disorder): आपके स्वास्थ्य के बारे में चिंता (जिसे पहले हाइपोकॉन्ड्रिया कहा जाता था);

7 post-traumatic stress disorder (PTSD): एक दर्दनाक घटना के बाद की चिंता;

to be continue...

SHARE

Sarvesh Astrologer Vastushastri

Astro Vastu Sarvesh (AVS) का उद्देश्य लगो की जनम कुंडली से निकलने वाली ऊर्जा और उस व्यक्ति के मकान से निकलने वाली ऊर्जा के बीच तालमेल बैठाना ही है, ताकि वो व्यक्ति मकान के बजाय "सुख और समृद्ध घर" मे रहे। इंसान के सोच से कर्म का निर्माण होता है, और कर्म से ही भाग्य का निर्माण होता है, AVS आपके कर्म को जागृत करते है और आप अपने भाग्य को।

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment